यशोभूमि

17 सितंबर को, पीएम मोदी ने इंडिया इंटरनेशनल कन्वेंशन एंड एक्सपो सेंटर (IICC) के पहले चरण का उद्घाटन करके अपना जन्मदिन मनाया, जिसे ‘यशोभूमि’ भी कहा जाता है, यह सेक्टर 25, द्वारका, दिल्ली में स्थित है। यशोभूमि का अर्थ है “प्रसिद्धि की भूमि”। यह दुनिया का सबसे बड़ा MICE (Meetings, Incentives, Conferences and Exhibitions) केंद्र होगा। इस प्रोजेक्ट की आधारशिला पीएम मोदी ने 20 सितंबर 2018 को रखी थी।

पीएम मोदी ने द्वारका सेक्टर 21 से सेक्टर 25 तक दिल्ली एयरपोर्ट मेट्रो एक्सप्रेस लाइन के विस्तार का भी उद्घाटन किया।

ALSO READ- Yashobhoomi in english…

‘यशोभूमि’ के बारे में अधिक जानकारी-

  • यशोभूमि की कुल लागत ₹25,700 करोड़ है, जिसमें से इसके पहले चरण की लागत ₹5,400 करोड़ है।
  • इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल (IGBC) द्वारा प्लेटिनम-प्रमाणित इमारत है।
  • इसका परियोजना क्षेत्र 8.9 लाख वर्ग मीटर से भी अधिक और कुल निर्मित क्षेत्र 1.8 लाख वर्ग मीटर से भी अधिक है।
  • इसमें मुख्य सभागार, एक बॉलरूम सहित 15 सम्मेलन कक्ष और 11,000 व्यक्तियों के बैठने की क्षमता वाले 13 बैठक कक्ष शामिल हैं।
  • इस इमरात के पास देश का सबसे बड़ा एलईडी मीडिया मुहार है।
  • यह हाईटेक सुरक्षा प्रावधानों से लैस है।
  • इसमें 100 से अधिक इलेक्ट्रिक चार्जिंग पॉइंट के साथ 3,000 से भी अधिक कारों के पार्किंग की सुविधा है।

रंगभवन(The Auditorium)-

यशोभूमि

कन्वेंशन सेंटर का पूर्ण हॉल मुख्य सभागार के रूप में कार्य करता है और इसमें लगभग 6,000 मेहमान आराम से बैठ सकते हैं। इसमें एक अत्याधुनिक स्वचालित बैठने की प्रणाली है जो विभिन्न आयोजनों के लिए विभिन्न प्रकार से बैठने की सुविधा देती है।

बॉलरूम-

यशोभूमि

कन्वेंशन सेंटर का बॉलरूम अपनी पंखुड़ी-नुमा छत के साथ एक अनूठा अनुभव प्रदान करता है और इसमें 2,500 मेहमान बैठ सकते हैं। इसके अतिरिक्त इसमें, एक खुला क्षेत्र भी है जिसमें अतिरिक्त 500 लोग बैठ सकते हैं।

अलग-अलग पैमाने की बैठकों के लिए, आठ मंजिलों पर 13 बैठक कक्ष हैं जो विभिन्न आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं।

पीएम मोदी का ट्वीट-

यशोभूमि