भारत करेगा 2024 विश्व दूरसंचार मानकीकरण सम्मेलन की मेजबानी

दूरसंचार उद्योग उत्साह से भरा हुआ है क्योंकि भारत 15-24 अक्टूबर 2024 तक विश्व दूरसंचार मानकीकरण सभा (WTSA) की मेजबानी करेगा- केंद्रीय संचार और इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2023 में यह जानकारी दी। यह समारोह 14 अक्टूबर 2024 को प्रगति मैदान, नई दिल्ली में वैश्विक मानकीकरण सम्मेलन (GSS) के बाद होगा।

विश्व दूरसंचार मानकीकरण सम्मेलन (WTSA)-2024 की आधिकारिक वेबसाइट: https://www.itu.int/wtsa/2024/

विश्व दूरसंचार मानकीकरण सम्मेलन (WTSA) सदस्य राज्यों और अन्य संगठनों (सेक्टर सदस्यों) की एक सभा है जो अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (ITU) यानी आईटीयू-टी (ITU-T) के मानकीकरण क्षेत्र में भाग लेती है। यह एक चतुर्वर्षीय आयोजन है जो हर चार साल में आयोजित किया जाता है। आयोजन संस्था आईटीयू सूचना और संचार प्रौद्योगिकियों के लिए एक विशेष संयुक्त राष्ट्र एजेंसी है।

ALSO READ- ‘WTSA-2024’ in English…

‘WTSA’ का महत्व-

WTSA को देशों के लिए वैश्विक दूरसंचार मानकों की स्थापना के लिए एक मंच के रूप में कार्य किया जाता है। WTSA-2024 भारत के लिए ITU-T में प्रमुख भूमिका निभाने का एक महत्वपूर्ण अवसर प्रस्तुत करता है, जिससे वह वैश्विक मानकों पर प्रभाव डाल सकता है और दूरसंचार/आईसीटी अनुसंधान और स्थानीय उद्योग को लाभ पहुंचा सकता है।

आईटीयू क्षेत्रीय कार्यालय (ITU Area Office) और नवाचार केंद्र (Innovation Centre) की स्थापना

मंत्री अश्विनी वैष्णव तथा अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) के महासचिव हाउलिन झाओ पहले ही 3 मार्च 2022 को मेजबान देश समझौते (HCA) पर हस्ताक्षर कर चुके हैं। यह समझौता अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संगठन (आईटीयू) के एक क्षेत्रीय कार्यालय और नवाचार केंद्र की स्थापना करता है जो नई दिल्ली में स्थित होगा।

निष्कर्ष-

WTSA-24 दूरसंचार की दुनिया में एक बड़ा कदम है। भारत का नेतृत्व और नई दिल्ली में आईटीयू के कार्यालय की स्थापना वैश्विक मानकों और नवाचार के प्रति देश के समर्पण को उजागर करता है। यह आयोजन दुनिया भर में दूरसंचार के लिए एक उज्जवल भविष्य का वादा करते हुए प्रौद्योगिकी में सहयोगात्मक प्रगति का मार्ग प्रशस्त करता है।