धर्मेंद्र प्रधान ने नई दिल्ली में इंडियास्किल्स 2023-24 का किया शुभारंभ

केंद्रीय शिक्षा, कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने इंडियास्किल्स 2023-24 कार्यक्रम लॉन्च किया और वर्ल्डस्किल्स प्रतियोगिता (WSC) 2022 के विजेताओं को सम्मानित किया।

ALSO READ- ‘Dharmendra Pradhan launched IndiaSkills 2023-24 in New Delhi’ in English…

इंडियास्किल्स 2023-24 क्या है?

इंडियास्किल्स 2023-24 एक कौशल विकास प्रतिस्पर्धा है जिसका उद्देश्य एक ऐसी श्रमशक्ति तैयार करना है जो न केवल शिक्षित हो बल्कि नौकरी के बाजार में आवश्यक कौशल से भी परिपूर्ण हो।

इंडियास्किल्स, वर्ल्डस्किल्स प्रतियोगिता के लिए एक सीढ़ी के रूप में काम करेगा। इंडियास्किल्स में राष्ट्रीय स्तर पर विजेताओं को वैश्विक कार्यक्रम वर्ल्डस्किल्स में भाग लेने का अवसर मिलेगा।

लक्ष्य एवं उद्देश्य-

  • कौशल की कमी को पूरा करना: उद्योग की आवश्यकताओं को व्यावसायिक मानदंडों में बदलने का काम करना और उसे प्रैक्टिकल दक्षता में परिणत करना।
  • रोज़गार योग्य कौशल के साथ सशक्तीकरण: उन कौशलों पर ध्यान देना जो बाजार की मांगों के साथ मेल खाते हों।
  • सफलता के लिए एकीकृत योग्यता: ज्ञान, कौशल, और हैंड्स-ऑन प्रशिक्षण को संतुलित करना।

वर्ल्डस्किल्स प्रतियोगिता और WSC 2022 में भारत का प्रदर्शन-

वर्ल्डस्किल्स प्रतियोगिता एक द्विवार्षिक प्रतियोगिता है जो वर्ल्डस्किल्स इंटरनेशनल द्वारा आयोजित की जाती है। इसमें भारत सहित 86 सदस्य देश हैं। भारत 2006 में वर्ल्डस्किल्स में शामिल हुआ था। व्यावसायिक कौशल के लिए एक वैश्विक मानक स्थापित करते हुए, यह प्रतियोगिता अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कार्यबल उत्कृष्टता का आकलन करती है। विभिन्न उद्योगों और शैक्षिक पृष्ठभूमियों से प्रतिस्पर्धा में भाग लेने वाले उम्मीदवार अपनी वैश्विक प्रतिभा और विशेषज्ञता का प्रदर्शन करते हैं।

WSC 2022 में, भारत ने 50 विविध कौशलों में उत्कृष्टता के साथ 2 रजत पदक, 3 कांस्य पदक और 13 मेडैलियन्स (मेडैलियन्स फॉर एक्सीलेंस) पदक हासिल करते हुए प्रतियोगिता में अपनी सर्वोच्च रैंकिंग, 11वां स्थान हासिल किया।

निष्कर्ष-

इंडियास्किल्स प्रतियोगिता कार्यबल और विशेषज्ञता के बीच एक सेतु का काम करेगी। साथ ही, इस प्रकार की प्रतियोगिताएं देश को एक कुशल कार्यबल प्रदान कर सकती हैं।